दिलचस्प

आखिर लड़कों को जल्दी जवाब क्यों नहीं देती लड़कियां, क्या आप जानतें है इसके पीछे की दिलचस्प वजह

आज के डिजिटल समय में लोगों को एक दूसरे से मिल कर बातें करने की फुरसत नहीं मिलती, जिसके कारण लोग सोशल मीडिया के द्वारा ही एक दूसरे के सम्पर्क में रहते है। ऐसे में युवा लड़के और लड़कियों में सोशल मीडिया का काफी क्रेज देखने को मिलता है। फिर भले ही वो फेसबुक हो, इंस्टाग्राम हो या व्हाट्सप्प लेकिन आज की युवा पीढ़ी हर बात शेयर करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म का ही सहारा लेती है। इस दौरान लड़का या लड़की दोनों में से किसी का भी रिप्लाई देर से आएं तो सामने वाले व्यक्ति को गुस्सा आना लाजिमी है। हालांकि लड़कियां लड़कों को जल्दी जवाब क्यों नहीं देती, इसकी वजह तो हर कोई जानना चाहता है।

लड़कों को जल्दी जवाब

इस वजह से लड़कों को जल्दी जवाब नहीं देती लड़कियां :

गौरतलब है कि लड़कियों को जब किसी लड़के का मैसेज आता है, तब वह जल्दी जल्दी उनके मैसेज का जवाब नहीं देती और उन्हें काफी इंतजार करवाती है। जिसके कारण लड़कों को काफी गुस्सा आता है, लेकिन लड़कियों के ऐसा करने के पीछे कई कारण हो सकते है। जिसके बारे में आज हम आपको विस्तार से बताना चाहते है।

अजनबी : बता दे कि अगर आप लड़की को नहीं जानते और फिर भी उसे मैसेज करके उसके जवाब का इंतजार करते है, तो ऐसी उम्मीद लगाना बेकार है। जी हां अगर आपके मैसेज करने के काफी देर बाद भी लड़की आपके मैसेज का जवाब नहीं देती, तो इसका मतलब ये है कि वह आपसे बात नहीं करना चाहती।

कमिटेड : इसका मतलब ये है कि अगर लड़की पहले से किसी के साथ रिलेशनशिप में है, तो वह किसी दूसरे लड़के से बात नहीं करती। इसके इलावा ये भी हो सकता है कि लड़की को किसी दूसरे लड़के से बात करने में कोई दिलचस्पी ही न हो।

chatबात करने का मन न होना : गौरतलब है कि अगर लड़की का आपसे बात करने का मन न हो, तब भी वह आपको भाव नहीं देगी या आपके मैसेज का देर से जवाब देगी।

नाराजगी : बता दे कि जब लड़कियां अपने बॉयफ्रेंड से या अपने किसी दोस्त से नाराज होती है, तो उनसे बात करना ही बंद कर देती है और यहाँ तक कि उनके मैसेज का रिप्लाई तक नहीं देती। तो इस वजह से लड़कियां लड़कों को जल्दी जवाब नहीं देती और उन्हें इंतजार करवाती है।

यह भी पढ़ें : रिश्तों में नहीं आएगी दूरी, अगर इन बातों का रखेंगे ध्यान

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button