दिलचस्प

बेरोजगार के प्यार में पागल हुई अमीर बाप की बेटी की प्रेम कहानी है दिलचस्प, वायरल हुई बुजुर्ग आशिक की लव स्टोरी

इसमें कोई शक नहीं कि पति पत्नी का रिश्ता प्यार के बंधन से जुड़ा हुआ होता है और ये एक ऐसा रिश्ता है जिसमें पति पत्नी अपनी जिंदगी के हर पल को एक दूसरे के साथ सांझा करते है। बहरहाल आज हम आपको ऐसी ही एक प्रेम कहानी से रूबरू करवाना चाहते है, जहां बेरोजगार के प्यार में पागल हुई अमीर बाप की बेटी ने सिर्फ अपने दिल की सुनी और उसकी प्रेम कहानी मिसाल बन गई।

बेरोजगार के प्यार में पागल हुई अमीर बाप की बेटी की प्रेम कहानी है ऐसी :

दरअसल ये प्रेम कहानी मुंबई में रहने वाले एक बुजुर्ग दंपति की है, जिन्होंने 75 साल की उम्र तक एक दूसरे का साथ निभाया। यही वजह है कि इन दोनों की प्रेम कहानी आज हर कोई सुनना चाहता है। जी हां अमीर बाप की बेटी को भगा कर ले जाने वाला ये शख्स न केवल शादी के शुरुआती दिनों में बल्कि बुढ़ापे में भी अपनी पत्नी को बेहद मोहब्बत करता है।

गौरतलब है कि अपनी प्रेम कहानी शेयर करते हुए वो बुजुर्ग शख्स बताता है कि वह उन्नीस साल की थी, जब हम अरेंज मैरिज के सिलसिले में मिले थे। हालांकि हमारा रिश्ता तो पक्का नहीं हुआ, पर हमारे दिल जरूर जुड़ चुके थे। जी हां अगर बुजुर्ग की माने तो लड़की के परिवार वाले उन्हें अपनी हैसियत का नहीं मानते थे, लेकिन इसके बावजूद भी वे दोनों मिलते और बातें करते थे। ऐसे में बुजुर्ग ने सोचा कि वह मुंबई जा कर कुछ काम धंधा करता हूं, ताकि लड़की के पिता मान जाएं।

बुजुर्ग ने सब के साथ शेयर की अपनी लव स्टोरी :

बहरहाल उनकी पत्नी ने कहा कि वह भी साथ चलेंगी, तो ऐसे में दोनों ने परिवार के खिलाफ जा कर कोर्ट मैरिज कर ली और मुंबई भाग गए। बता दे कि अपनी लव स्टोरी को आगे बढ़ाते हुए बुजुर्ग ने कहा कि वह खाली हाथ था, फिर भी एक अमीर बाप की बेटी सब कुछ छोड़ कर उसके साथ मुंबई आ गई। अब यूं तो बुजुर्ग के पास काम करने का कोई अनुभव नहीं था, लेकिन उनकी पत्नी का विश्वास उनके अंदर हिम्मत झोंक देता था।

इसके बाद बुजुर्ग ने बताया कि हम दोनों एक छोटे से कमरे में रहने लगे और बड़ी मुश्किल से गुजारा करते थे। जी हां बुजुर्ग में बताया कि उन्होंने हैंडलूम का काम शुरू किया और उनकी पत्नी घर में पापड़ बना कर मोहल्ले में बेचने लगी। बहरहाल पैसों की तंगी होने के कारण उनकी पत्नी दिन रात काम करती थी और घर खर्च को संभाल लेती थी। इसके साथ ही बुजुर्ग ने बताया कि उसने एक बार भी मुझसे किसी चीज की डिमांड या शिकायत नहीं की।

हर मुसीबत झेली, फिर भी बढ़ता गया दोनों का प्यार :

फिर वो दिन भी आएं जब दोनों को घाटा होने लगा और उन्होंने खूब गरीबी देखी। तब दोनों की हैसियत एक गिलास दूध खरीद कर पीने जैसी हो गई थी। मगर फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी और जितना भी मिलता था सब कुछ बच्चों के साथ मिल जुल कर खाते थे। जी हां वे चाय के कप से लेकर ताश के पत्तों तक सब कुछ शेयर करते थे। बहरहाल बुजुर्ग ने बताया कि इतनी लंबी जिंदगी में वह केवल एक ही बार अपनी पत्नी और बच्चों को ट्रिप पर ले जा पाया।

जी हां वे सब हरिद्वार ट्रिप पर गए थे, जहां उन्होंने हाथों में हाथ डाल कर पूरा शहर देखा और उनकी पत्नी तस्वीरें लेते हुए बेहद खुश थी। फिर जब बुढ़ापा आया तो हम एक दूसरे का हमसाया बने और बढ़ती उम्र में पार्क में एक साथ घूमते, बिल्डिंग के नीचे बैठते, हर रोज रात को कई राउंड ताश के खेलते तथा वो हर बार मुझे हरा देती थी। मगर फिर 73 साल की उम्र में वह बीमार रहने लगी और उसके हर काम करने की जिम्मेदारी मुझ पर आ गई थी। तब हम एक दूसरे के काफी करीब आ गए थे और फिर 75 साल की उम्र में हमारा साथ छूट गया, क्योंकि वो वहां चली गई, जहां से कोई लौट कर नहीं आता।

इस बारे में बात करते हुए बुजुर्ग ने बताया कि अपनी पत्नी के जाने के बाद वह हर जगह जाते है, लेकिन ताश के पत्तों को हाथ नहीं लगाते। बता दे कि बुजुर्ग ने कहा कि एक दिन वे दोनों जरूर मिलेंगे, क्योंकि वो स्वर्ग में मेरा इंतजार कर रही है। हालांकि उन्हें इस बात का अफसोस है कि वह उन्हें छोड़ कर सबसे बड़ा दुख दे कर वो मुस्कुराहट छीन कर ले गई, जो उसने मुझे दी थी। तो दोस्तों बेरोजगार के प्यार में पड़ी अमीर बाप की बेटी और इस बुजुर्ग के प्यार के बारे में आपकी क्या राय है, ये हमें जरूर बताइएगा।

यह भी पढ़ें : पापा ने बेटी को गिफ्ट की स्कूटी, लेकिन मिला ऐसा नंबर कि शर्म से पानी-पानी हुआ पूरा परिवार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button