खबरेंवायरल

जानिए उस ऐप का नाम, जिसके जरिए ‛वो’ फिल्में रिलीज करने का राज कुंद्रा पर है आरोप, एप्प को सर्च करने वालों की बढ़ी तादात

ये तो सब जानते है कि इन दिनों बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा खूब चर्चा में है और उनके चर्चा में आने की वजह भी काफी बड़ी है। जी हां जब से राज कुंद्रा गिरफ्तार हुए है, तब से उन्हें लेकर कई हैरान कर देने वाली बातें सामने आ रही है। अगर सूत्रों की माने तो मुंबई पुलिस ने कई महीनों तक जांच पड़ताल करने के बाद ही उन्हें गिरफ्तार किया है। बहरहाल आज हम आपको उस एप के बारे में भी बताना चाहते है, जिसके जरिए राज कुंद्रा ये काम करते थे। तो जानिए उस एप का नाम जिसके द्वारा राज कुंद्रा गलत काम करते थे और यही काम उनकी गिरफ्तारी की वजह बन गया।

जानिए उस एप का नाम जिसके जरिए राज कुंद्रा करते थे गलत काम :

गौरतलब है कि इस पूरे मामले की शुरुआत करीब पांच महीने पहले मड़ आइलैंड के एक बंगले में हुई थी, जहां पुलिस ने चार फरवरी को गुप्त रूप से मिली सूचना के आधार पर छापा मारा था। आपको जान कर हैरानी होगी कि तब दो लोग बंगले में पो’र्न फिल्म की शूटिंग कर रहे थे और तब पांच लोगों को गिरफ्तार करके पुलिस ने एक महिला को भी बचाया था। इस मामले में यास्मीन रोवा खान, प्रतिभा नलवाडे, मोनू गोपालदास जोशी, भानुसूर्यम ठाकुर और मोहम्मद आसिफ उर्फ सैफी के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

भोजपुरी और मराठी फिल्मों की शूटिंग करने के नाम पर किया जाता था यह काम :

वही अगर खबरों की माने तो ऐसा कहा जाता है कि मड़ आइलैंड के जिस बंगले पर छापा मारा गया था, उसे बीस हजार रुपए प्रतिदिन के हिसाब से किराए पर लिया था था। ऐसे में बंगले के मालिक का कहना था कि भोजपुरी और मराठी फिल्मों की शूटिंग करने के नाम पर यह बंगला किराए पर लिया गया था। जिसके बाद यह बात सामने आई कि फिल्म निर्माण के लिए बने एक प्रोडक्शन हाउस की आड़ में पो’र्न फिल्में बनाने का रैकेट चलाया जा रहा है और इसमें राज कुंद्रा की भूमिका मुख्य है।

कई महीनों से पुलिस कर रही है इस मामले की जांच पड़ताल :

बता दे कि इस घटना के करीब पांच महीने बाद राज कुंद्रा को गिरफ्तार किया गया था और फिर उन्हें अदालत में ले जाया गया, जहां उन्हें तेईस जुलाई तक पुलिस हिरासत में रखने की सजा सुनाई गई। वही इस बारे में पुलिस का कहना है कि बंगले से गिरफ्तार किए गए पांच लोगों ने बताया कि महाराष्ट्र की भीड़ या झारखंड जैसे राज्यों से मुंबई आने वाली अभिनेत्रियों को वेब सीरीज में काम करवाने का वादा किया जाता था और फिर आखिरी समय पर उनसे कहा जाता था कि स्क्रिप्ट में बदलाव किया गया है। जिसके बाद उन्हें बिना कपड़ों के शूटिंग करने के लिए कहा जाता था।

इस तरह अभिनेत्रियों को किया जाता था मजबूर :

इसके बाद पुलिस ने बताया कि ऐसी स्थिति में अगर कोई अभिनेत्री काम करने से मना करती थी, तो उसे शूटिंग का बिल भरवाने की धमकी दी जाती थी। यही वजह है कि ज्यादातर अभिनेत्रियां यह काम करने के लिए मान जाती थी और फिर जब काम खत्म हो जाता था तो ऐसी फिल्मों को कथित रूप से हॉट हिट मूवीज तथा हॉटशॉट्स जैसे मोबाइल एप्लीकेशन पर डाल दिया जाता था। केवल इतना ही नहीं इसके इलावा आरोपियों ने मेन स्ट्रीम ओटीटी प्लेटफार्म के आधार पर मेंबरशिप भी ले रखी थी और इसके लिए सोशल मीडिया पर विज्ञापन भी डाले थे।

पिछले साल ही हटा दी गई थी यह एप :

हालांकि पुलिस का कहना है कि पिछले साल जून के महीने में इस एप को एप्पल स्टोर और नवंबर के महीने में गूगल से प्ले स्टोर से भी हटा दिया गया था। इसके साथ ही यह भी पता चला कि इन फिल्मों की शूटिंग आमतौर पर एक दिन में ही मुंबई के बाहरी इलाकों में की जाती थी। जी हां पुलिस का यह भी कहना है कि लॉक डाउन के दौरान यह एप काफी प्रसिद्ध हुए है। बहरहाल अब तो आप उस एप का नाम जान गए होंगे जिसके जरिए राज कुंद्रा गलत काम करते थे, लेकिन अब इस मामले में कौन सा नया मोड़ आएगा, ये तो पुलिस द्वारा पूरी जांच करने के बाद ही पता चलेगा।

यह भी पढ़ें : राज कुंद्रा मामले में फसी बॉलीवुड की ये दो बड़ी अभिनेत्रियाँ, कँगना ने पूरे बॉलीवुड को कहा ‛गटर’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button