स्वास्थ्य

खाली पेट लौकी का जूस पीने से सेहत को होते हैं कई जबरदस्त फायदे, लेकिन पीने से पहले नुक्सान भी जान लीजिए

लौकी का जूस पीने के फायदे : इसमें कोई शक नहीं कि लौकी एक पौष्टिक सब्जी है, जो भले ही खाने में ज्यादा स्वादिष्ट न लगती हो, लेकिन इससे शरीर को बहुत सारे फायदे होते है। हालांकि आप चाहे तो लौकी का हलवा बना कर भी खा सकते है और लौकी को घीया या दूधी के नाम से भी जाना जाता है। फिलहाल हम आपको लौकी के जूस पीने के फायदे और नुकसान से रूबरू करवाना चाहते है। हमें यकीन है कि इसे पढ़ने के बाद आप लौकी का सेवन किए बिना नहीं रह पाएंगे।

 

लौकी का जूस पीने के फायदे :

बहरहाल सुबह के समय लौकी का सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है। जी हां इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट्स काफी ज्यादा मात्रा में होते है, जो शरीर को बीमारियों से बचाने में मदद करते है। इसके इलावा लौकी को कई नामों से भी जाना जाता है, जैसे कि संस्कृत में इसे क्षीरतुम्बी, अलाबू और सामान्य रूप से इसे लउका या कद्दू के नाम से भी जाना जाता है। बता दे कि लौकी उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में उगाई जाती है। अब अगर लौकी की तासीर की बात करे तो लौकी की तासीर ठंडी होती है, इसलिए लौकी के जूस का सेवन गर्मियों में किया जाता है। इसके साथ ही लौकी का जूस पाचन तंत्र के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है।

गौरतलब है कि आप लौकी का सेवन सब्जी के रूप में भी कर सकते है, लेकिन अगर लौकी के जूस का सेवन सुबह सुबह खाली पेट किया जाएं तो बेहद लाभकारी होता है। इससे न केवल वजन कम होता है, बल्कि पाचन तंत्र भी सही होता है। तो चलिए अब आपको लौकी के जूस के फायदों के बारे में विस्तार से बताते है। 

स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है लौकी का जूस :

वजन कम करने में सहायक: बता दे कि लौकी का रस विटामिन, पोटेशियम, लौह, पानी और फाइबर आदि से परिपूर्ण होता है, तो ऐसे में हर रोज व्यायाम करने के साथ साथ सौ ग्राम लौकी का जूस भी पीना चाहिए। इससे पेट कई घंटों तक भरा हुआ रहता है पर भूख भी नहीं लगती। जिससे वजन घटाने में आसानी होती है। इसके इलावा लौकी को उबाल कर नमक के साथ लेने से वजन कुछ ही घंटों में कम हो जाता है।

उच्च रक्तचाप में फायदेमंद: बता दे कि लौकी में सोडियम का निम्न स्तर होता है, जो उच्च रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मदद करता है। जी हां अगर आप हर रोज केवल एक गिलास लौकी का रस पीते है तो इससे आपकी हाई बीपी की समस्या काफी हद तक कम हो सकती है। बहरहाल उच्च रक्तचाप से दिल का दौरा और अनियमित दिल को धड़कन आदि समस्याएं होने की संभावना बढ़ जाती है, तो ऐसे में हर रोज दो सौ मिलीग्राम लौकी का जूस पीने से रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है और उच्च रक्तचाप से राहत मिलती है। इसके इलावा लौकी के जूस में मौजूद पोटेशियम एक महत्वपूर्ण खनिज है जो प्राकृतिक वासोडिलेटर के रूप में कार्य करके छोटी रक्तवाहिकाओं को बड़ा करने का काम करता है।

खाली पेट करे लौकी के रस का सेवन :

यूरिन में लाभकारी: बता दे कि यूरिन में बैक्टीरिया के कारण इंफेक्शन होता है और ऐसे में लौकी शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल कर इस समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है। दरअसल लौकी के रस में पानी की मात्रा अधिक होती है, जो शरीर को ठंडा रखती है और इसलिए इसका सेवन गर्मियों में किया जाता है। इसलिए अगर आपको पेशाब के दौरान जलन या दर्द महसूस होता है तो आपको हर रोज सुबह लौकी का जूस पीना चाहिए। जी हां लौकी के जूस का सेवन करने से यह यूरिन में एसिड की मात्रा को कम करता है। जिससे ये समस्या दूर होती है।

हृदय के लिए फायदेमंद: बता दे कि अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए आप अन्य फलों और सब्जियों की तरह लौकी का रस भी पी सकते है। जी हां लौकी में विटामिन सी, विटामिन के और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जिसमें केलोस्ट्रॉल की मात्रा जीरो के बराबर होती है। जिससे हृदय संबंधित रोग होने की संभावना कम हो जाती है।

तनाव में फायदेमंद: गौरतलब है कि लौकी में पानी की मात्रा अधिक होने से शरीर ठंडा रहता है, जिससे तनाव से राहत मिलती है। जी हां इसके ड्यूरेटिक सेडेटिव और एंटीबिलियस के गुण से आपके शरीर को बेहतर महसूस होता है और आप तनाव मुक्त रहते है। इसके इलावा इसमें मौजूद न्यूरोट्रांसमिटर कोलीन मस्तिष्क को कोशिकाओं को ठीक से काम करने में भी मदद करता है।

लौकी के जूस से कई समस्याएं होती है दूर :

बालों के लिए फायदेमंद: बता दे कि इसमें मौजूद विटामिन बी से आपके सिर की त्वचा ठंडी रहती है और ऐसे में यह बालों के प्राकृतिक रंग को खराब होने से तथा बालों को झड़ने से बचाता है। जी हां लौकी के रस में तिल का तेल मिला कर बालों की जड़ों में अच्छी तरह से लगाने से गंजेपन की समस्या दूर होती है। इसके इलावा अगर आपके सिर की त्वचा मृत परतों से भर जाती है, तो ऐसी स्थिति में लौकी के रस और आंवला को बराबर मात्रा में मिला कर पीने से रूसी की समस्या कम होती है। अगर आप चाहे तो इस मिश्रण से सिर पर मालिश भी कर सकते है।

त्वचा के लिए लाभकारी: बता दे कि लौकी का हर रोज सेवन करने से रक्त शुद्ध रहता है और इससे त्वचा भी चमकदार और सुंदर बनती है। अगर आप चाहे तो लौकी के रस में बेसन और दही मिला कर बीस मिनट तक अपने चेहरे पर लगाएं रखे और फिर गर्म पानी से धो ले। इससे आपकी त्वचा कोमल रहेगी। जी हां विटामिन और मिनरल्स से भरपूर लौकी के रस को सुबह सुबह पीना चाहिए और त्वचा को सुन्दर रखने के लिए इसके एक गिलास का सेवन हर रोज सुबह जरूर करे।

अब अगर हम लौकी के रस के अन्य फायदों की बात करे तो आयुर्वेद के अनुसार लौकी का जूस लिवर की सूजन को कम करने में मददगार साबित होता है और इसका हर रोज सेवन करने से हड्डियां मजबूत होती है तथा यह ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम को कम करने में भी सहायता करता है। यहां तक कि गर्भवती महिलाएं भी इसका सेवन कर सकती है, लेकिन इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले लीजिए। बता दे कि लौकी के रस का सेवन करने से कैंसर जैसी बीमारी होने की संभावना कम हो जाती है।

लौकी का जूस पीने से पहले ध्यान रखे ये बातें :

वही अगर आपको नींद न आने की परेशानी है तो लौकी के जूस का सेवन करने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। अब अगर इसके नुकसान की बात करे तो वो कुछ इस प्रकार है। गौरतलब है कि लौकी का जूस पीते समय इस बात का ध्यान रखे कि इसके साथ किसी और चीज को मिक्स न करे और लौकी का जूस बनाने के बाद इसे एक बार जरूर चख ले। जी हां ऐसे में अगर जूस कड़वा हुआ तो उसका सेवन न करे, क्योंकि इससे पेचिश के साथ साथ जी मचलाना जैसी समस्या भी पैदा हो सकती है। इसके इलावा लौकी के कड़वे जूस का सेवन करने से गर्भपात भी हो सकता है और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को भी यह जूस नहीं पीना चाहिए, क्योंकि यह बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकता है। तो लौकी के रस का सेवन करते समय इन सब बातों का ध्यान भी जरूर रखे।

बहरहाल लौकी का रस बनाने के लिए चार सौ ग्राम लौकी, सात तुलसी के पत्ते, पांच पुदीना के पत्ते, चार से पांच दाने काली मिर्च के और सेंधा नमक स्वादानुसार ले। अब लौकी, पुदीना और तुलसी को अच्छी तरह धो ले तथा इन सब को जूसर में डाल कर इनका जूस निकाल ले। इसके बाद जूस को किसी साफ गिलास में निकाल कर उस में सेंधा नमक और काली मिर्च का पाउडर डाल कर अच्छी तरह मिला ले। फिर सुबह खाली पेट इस जूस का सेवन करे, इससे आपकी बहुत सी समस्याएं दूर हो जाएंगी। यहां गौर करने वाली बात ये है कि दिल के मरीजों को हर रोज दिन में तीन बार इसका सेवन करना चाहिए।

जी हां शुरुआत में इसका कम मात्रा में सेवन करे और फिर जब यह पचने लगे तो इसकी मात्रा बढ़ा दे। बहरहाल लौकी का रस पेट के विकारों को मल के द्वारा बाहर निकालता है और इससे शुरुआत में पेट खराब हो सकता है, लेकिन यह बाद में खुद ही ठीक हो जायेगा। यहां तक कि मरीज लौकी के रस के साथ अपनी दवाएं भी ले सकते है। हमें उम्मीद है कि लौकी का रस पीने के फायदों के बारे में जान कर आप भी इसका सेवन जरूर करेंगे।

यह भी पढ़ें : खून साफ करने से पाचन तक कई गुणों से भरपूर होती है साफी, जानिए हमदर्द साफी पीने के फायदे, नुक्सान और इस्तेमाल करने का सही तरीका

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button