स्वास्थ्य

रोग प्रतिरोधक क्षमता, आंखों और कोलेस्ट्रॉल जैसी अनेक समस्यों के लिए वरदान है आंवले के मुरब्बे का सेवन, जानिए इसके फायदे और नुक्सान

Amla Ka Murabba Khane Ke Fayde Aur Nuksaan : बता दे कि आंवला प्रकृति की अनमोल चीजों में से एक है, क्योंकि इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व मौजूद होते है और यही वजह है कि इसका उपयोग कई तरह से किया जा सकता है। इन्हीं उपयोग में से एक आंवला मुरब्बा भी है, जो बेहद स्वादिष्ट और गुणकारी भी होता है। बहरहाल आंवला मुरब्बा के फायदे तो बहुत सारे है, लेकिन इसका सबसे बड़ा फायदा स्वास्थ्य को होता है। जी हां आंवला की तरह आंवला मुरब्बा भी स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है और आज हम आपको इसके फायदों से ही रूबरू करवाना चाहते है। इसके साथ ही हम आपको इसके नुकसान और उपयोग के बारे में भी विस्तार से बताना चाहते है। मगर सबसे पहले हम आपको बताना चाहते है कि आखिर आंवला मुरब्बा आखिर क्या है, तो चलिए अब आपको इसके बारे में बताते है।

आंवला मुरब्बा क्या है  : What Is Amla Murabba

गौरतलब है कि आंवला मुरब्बा एक प्रकार का जैम होता है, जिसे बनाने के लिए सबसे पहले आंवलों को अच्छी तरह पानी से साफ किया जाता है और फिर इसे करीब दो दिन तक फिटकरी वाले पानी में रखा जाता है। फिर इसे अच्छी तरह से धो कर दूसरे बर्तन में डाल कर इसमें पानी और चीनी मिला कर मध्यम आंच पर पकाया जाता है। इसके बाद इसे जार में भर कर ठंडा किया जाता है और आंवला मुरब्बा तैयार किया जाता है। बहरहाल ये खाने में जितना स्वादिष्ट होता है, उतना ही लाभकारी भी होता है। अब अगर आंवला के फायदों की बात करे तो वो इस प्रकार है।

आंवला मुरब्बा के फायदे : Amla Ka Murabba Khane Ke Fayde

बता दे कि आंवला मुरब्बा आयरन का अच्छा स्रोत माना जाता है और इसे हेल्थ टॉनिक भी माना जाता है, लेकिन फिर भी औषधि के रूप में इसका इस्तेमाल करने से पहले चिकित्सक की सलाह जरूर ले लीजिए। अब हम आपको आंवला मुरब्बा के बारे में विस्तार से बताते है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक :

बता दे कि एक शोध के अनुसार इसमें इम्यूनोमॉड्यूलेटरी गुण पाया जाता है जो इम्यून सिस्टम की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। इसके साथ ही यह विटामिन सी का भी अच्छा स्त्रोत माना जाता है और ऐसे में यह इम्यून सिस्टम को सुरक्षित रखने में मदद करता है। इसके इलावा अगर डॉक्टर की माने तो जिन लोगों को बार बार सर्दी होती है उन्हें आंवला मुरब्बा का सेवन करना चाहिए।

पाचन क्षमता के लिए लाभकारी :

बता दे कि आंवला को फाइबर युक्त खाद्य सामग्री की श्रेणी में रखा जाता है, क्योंकि इसमें फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है। जी हां फाइबर पेट के लिए जरूरी पोषक तत्व माना जाता है, क्योंकि यह पाचन में सुधार करने के साथ साथ कब्ज जैसी समस्या से भी आराम दिलाता है। इसके इलावा इसके उपयोग का जिक्र आयुर्वेद और यूनानी चिकित्सा में भी किया गया है। बहरहाल इसका इस्तेमाल पेट को साफ करने के लिए भी किया जाता है।

स्वस्थ हृदय के लिए लाभकारी :

गौरतलब है कि एक शोध के अनुसार आंवले में विटामिन सी और बायोएक्टिव फाइटोकोनस्टिटुएंट्स मौजूद होते है, जो शरीर को कई तरह के रोगों से दूर करने के साथ साथ हृदय संबंधी समस्याओं से बचाव करने में भी सहायता करते है।

कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायक :

बता दे कि मुरब्बा का सेवन रक्त में मौजूद कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है, लेकिन इसका कौन सा गुण कोलेस्ट्रॉल को कम करने में फायदेमंद होता है, इसकी जानकारी अभी तक किसी शोध में नहीं पाई गई है।

आंखों के लिए उपयोगी :

बता दे कि आंवला मुरब्बा आंखों की रोशनी सुधारने में मदद करता है और आंवला में जो कैरोटीन पाया जाता है, वो आंखों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है।

कब्ज की समस्या को दूर करने में सहायक :

गौरतलब है कि आंवले में मौजूद लैक्सेटिव गुण कब्ज से आराम दिलाने में मदद करता है। हालांकि इस बारे में अभी तक कोई पक्की जानकारी नहीं मिली है, लेकिन मुरब्बा आंवला से ही बनाया जाता है। तो ऐसे में ये कहा जा सकता है कि आंवले का मुरब्बा कुछ हद तक कब्ज दूर करने में मददगार हो सकता है।

एसिडिटी को कम करने में लाभकारी :

बता दे कि जिन्हें एसिडिटी की समस्या होती है, उनके लिए यह काफी लाभकारी है, क्योंकि एक शोध के अनुसार आंवला और इससे बनने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से न केवल पाचन संबंधी समस्याएं दूर होती है, बल्कि एसिडिटी की समस्या भी दूर होती है।

आंवला मुरब्बा का उपयोग :

गौरतलब है कि आंवला मुरब्बा का उपयोग कई तरह से किया जा सकता है। जैसे कि इसे सीधा भी खाया जा सकता है या ब्रेड के ऊपर जैम की तरह भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

इसके इलावा हर रोज दूध के साथ भी आंवले के मुरब्बे का सेवन किया जा सकता है। यहां ध्यान देने योग्य बात ये है कि हर रोज आंवला मुरब्बा का केवल एक चम्मच ही सेवन करे और इस पर अभी शोध चल रहा है, तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले लीजिए।

बहरहाल आप आंवला मुरब्बा को करीब पांच महीने तक कमरे के तापमान में स्टोर करके रख सकते है। अब अगर हम इसके नुकसान की बात करे तो वो इस प्रकार है।

आंवला मुरब्बा के नुकसान : Amla Murabba Ke Nuksaan 

बता दे कि आंवला मुरब्बा में शुगर की मात्रा अधिक होती है, इसलिए शुगर के मरीजों को इसका सेवन सोच समझ कर ही करना चाहिए। इसके इलावा जिन लोगों को आंवला और उससे बने खाद्य पदार्थों से एलर्जी की समस्या होती है, उन्हें भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए। अब यूं तो यह स्वाथ्य के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन अगर बिना जानकारी और अधिक मात्रा में इसका सेवन किया जाए तो यह शरीर के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है। फिर भी अगर आप औषधि के रूप में इसका सेवन करना चाहते है, तो एक बार चिकित्सक की सलाह जरूर ले लीजिए।

यह भी पढ़ें : त्वचा और बालों के लिए बेहद फायदेमंद है ऑलिव ऑयल, जानिए इसके फायदे, नुक्सान और इस्तेमाल करने का सही तरीका

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button